Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

भाजपा को एक सप्ताह के भीतर नया कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष मिल जायेगा

 Ritu |  4 Jun 2019 9:45 AM GMT

2014 में राजनाथ सिंह ने केंद्र सरकार में गृहमंत्री बनने के बाद भाजपा अध्यक्ष का पद छोड़ दिया था।

नई दिल्ली। भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह केंद्रीय गृह मंत्री बन चुके हैं और पार्टी के एक व्यक्ति एक पद सिद्धांत के चलते उन्हें एक पद छोड़ना होगा। अमित शाह भाजपा अध्यक्ष पद उसी तरह छोड़ने जा रहे हैं जैसे 2014 में राजनाथ सिंह ने केंद्र सरकार में गृहमंत्री बनने के बाद भाजपा अध्यक्ष का पद छोड़ दिया था। अब पार्टी सूत्रों की मानें तो भारतीय जनता पार्टी को एक सप्ताह के भीतर ही नया कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष मिल सकता है। भाजपा में जल्द ही संगठन के चुनाव होने हैं ऐसे में पूर्णकालिक पार्टी अध्यक्ष संगठन चुनावों के बाद ही बनेगा।

सितंबर 2018 में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर संगठन चुनावों को लोकसभा चुनाव तक टाल दिया गया था। भाजपा के संविधान के मुताबिक राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव संगठन चुनावों के संपन्न होने या फिर पचास फीसदी से राज्यों में संगठन के चुनाव पूरे होने के बाद ही हो सकता है।

इस वर्ष अक्तूबर में हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव होने हैं इसलिए संभावना है कि तब तक शायद पचास फीसदी से ज्यादा राज्यों में भाजपा के संगठन चुनाव संपन्न नहीं हो पायें इसलिए कार्यकारी अध्यक्ष की नियुक्ति की जा सकती है। कार्यकारी अध्यक्ष पद के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा के अलावा भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव का नाम भी शामिल है। इसके अलावा कैलाश विजयवर्गीय भी रेस में बने हुए हैं।

नड्डा के प्रभाव वाले उत्तर प्रदेश, यादव के प्रभार वाले बिहार तथा गुजरात और विजयवर्गीय के प्रभार वाले पश्चिम बंगाल में भाजपा का लोकसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन रहा है। हालांकि नड्डा का नाम सबसे आगे इसलिए है क्योंकि वह पार्टी महासचिव के तौर पर राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और अमित शाह के साथ काम कर चुके हैं और फिलहाल भाजपा की निर्णायक इकाई संसदीय बोर्ड के सचिव भी हैं।

भाजपा सूत्रों ने यह भी बताया कि लोकसभा चुनावों में जोरदार जीत के बाद अब पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक संसद सत्र के बाद जुलाई या अगस्त में बुलाई जा सकती है। इस बैठक को भव्य रूप देने की तैयारियां शुरू हो गयी हैं। संभावना जताई जा रही है कि राष्ट्रीय परिषद की बैठक भाजपा इस बार पश्चिम बंगाल में करेगी जहाँ लोकसभा चुनावों में उसने 18 सीटें जीतकर जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top