Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

राहुल गांधी से मिले नवजोत सिंह सिद्धू

 Ritu |  10 Jun 2019 6:55 AM GMT

सिद्धू की लगातार चली आ रही सियासी रस्सकशी के चलते ही मुख्यमंत्री ने सिद्धू का विभाग बदल दिया

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियं​​का गांधी से मिले। इस मुलाकात के दौरान अहमद पटेल भी मौजूद थे। बता दें कि पंजाब में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ सिद्धू की लगातार चली आ रही सियासी रस्सकशी के चलते ही मुख्यमंत्री ने सिद्धू का विभाग बदल दिया है। नवजोत सिद्धू ने राहुल गांधी के साथ अपनी मुलाकात के बारे में ट्वीट कर लिखा, 'कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात की, उन्हें अपना पत्र सौंपा, स्थिति से अवगत करवाया' हालांकि सिद्धू ने इस चिट्ठी में क्या लिखा है और उनकी राहुल गांधी से क्या बात हुई इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है।

बता दें कि पंजाब कैबिनेट में हुए फेरबदल में सिद्धू का विभाग बदले जाने के एक दिन बाद उनसे कोई संपर्क नहीं हो पाया, जिसके चलते ये अटकलें लगाई जा रही है कि वह नया पदभार संभालेंगे या नहीं।

उनके एक सहयोगी ने सिद्धू के अगले कदम को लेकर लगाए जा रहे कयास के बीच मंत्री के बारे में कुछ भी खुलासा करने से इनकार कर दिया। दरअसल, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से तकरार के बीच गुरुवार को पंजाब कैबिनेट फेरबदल में सिद्धू से स्थानीय शासन, पर्यटन एवं संस्कृति विभाग वापस ले लिया गया।

उन्हें ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग सौंपा गया। कैबिनेट की एक बैठक से सिद्धू के दूर रहने के कुछ घंटों बाद यह फेरबदल किया गया, जिसमें ज्यादातर मंत्रियों के विभाग बदल दिए गए। हालांकि, सिद्धू ने गुरुवार को अपने आधिकारिक आवास पर मीडिया से बात करने का विकल्प चुना। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार के लिए उनके विभाग को सार्वजनिक रूप से निशाना बनाया गया।

इस बीच, शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने सिद्धू का विभाग बदले जाने पर एक ट्वीट में तंज किया, ''...और अब सिद्धू को ऊर्जा (विभाग) दिया गया है ताकि सिद्धू बेहतर प्रदर्शन कर सकें और ग्रामीण इलाकों में भी यही नतीजे हासिल कर सकें। ''

वहीं, दूसरी ओर आम आदमी पार्टी विधायक अमन अरोड़ा ने ऊर्जा मंत्री बनने पर सिद्धू को बधाई दी और पिछली शिअद-भाजपा सरकार के दौरान निजी ताप विद्युत संयंत्रों के साथ किए गए बिजली खरीद के तीन समझौतों की समीक्षा करने का अनुरोध किया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top