Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

अब पद्म पुरस्कारों का चयन पारदर्शी तरीके से होता है: मोदी

 Admin |  17 Aug 2017 3:07 PM GMT

अब पद्म पुरस्कारों का चयन पारदर्शी तरीके से होता है: मोदी

नई दिल्ली। पद्म पुरस्कारों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा है कि अब पद्म पुरस्कारों का चयन पारदर्शी तरीके से होता है। पीएम मोदी ने नई दिल्ली में नीति आयोग के कार्यक्रम में उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि पहले पद्म पुरस्कार में मंत्रियों की सिफारिश पर दिए जाते थे। लेकिन हमने अब इस प्रक्रिया को बदलने का फैसला किया है और अब इसमें हर कोई भाग ले सके इसके लिए हमने विशेष प्रावधान किया है। पीएम ने कहा कि पहले पद्म पुरस्कारों का चयन मंत्रियों की सिफारिश पर होता था। मतलब जो जिस विभाग का मंत्री है वो अपने मंत्रालय की तरफ से उससे संबंधित क्षेत्र में काम करने वाले किसी शख्स का नाम पद्म पुरस्कार के लिए आगे बढ़ा देते थे। जैसे खेल मंत्रालय की तरफ से किसी खिलाड़ी या कोच का नाम, संस्कृति मंत्रालय की तरफ से कला संस्कृति के क्षेत्र से जुडे़ किसी शख्स का नाम, एचआरडी मंत्रालय की तरफ से शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन काम करने वाले शख्स का नाम आगे बढ़ाया जाता था। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पद्म पुरस्कारों के चयन को लेकर बड़ा कदम उठाने की बात कहते हुए इसे पारदर्शी और राजनीति हस्तक्षेप से अलग रखने का फैसला किया है। उन्होंने यह भी कहा है कि इसकी प्रक्रिया को ऑनलाइन किया जा चुका है।आपको बता दें कि साल 2018 के लिए विभिन्न क्षेत्रों की उत्कृष्ट शख्सियतों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 2018 में देश के प्रतिष्ठित सम्मान के नामांकन के लिए आखिरी तारीख 15 सितंबर, 2017 है। इसमें कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्यों, विज्ञान और इंजीनियरिंग, सार्वजनिक मामलों, सिविल सेवा, व्यापार और उद्योग जैसे विभिन्न क्षेत्रों और विधाओं में उत्कृष्ट योगदान देने वाले और असामान्य उपलब्धियां अर्जित करने वाले लोगों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा। पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन या अनुशंसाएं गृह मंत्रालय द्वारा तैयार किये गये पद्म पोर्टल पर ही ऑनलाइन प्राप्त किये जा रहे हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top