Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

प्रयागराज में कुंभ मेला का हुआ शंखनाद

 Ritu |  15 Jan 2019 6:25 AM GMT

प्रयागराज में कुंभ मेला का हुआ शंखनाद

नई दिल्ली। प्रयागराज में कुंभ मेला का शंखनाद हो गया हैं। साधु—संत इस कड़ाके की ठंड में डुबकी लगा रहें हैं। धर्म के सबसे बड़े मेले में हर साधू संत की इच्छा होती है कि वो शाही स्नान संगम तट पर करे। ऐसे में सालों बाद जब ये मौका आया तो कड़ाके की ठंड को भी मात देते हुए संन्यासियों ने शाही स्नान किया।

बता दे कि बड़े ही धूमधाम से शोभा यात्रा निकालते हुए निरंजनी और आनंद अखाड़े के साधु संतों ने संगम तट पर शाही स्नान किया। केंद्रीय मंत्री निरंजन ज्योति को निरंजनी अखाड़े का महामंडलेश्वर बनाया गया है। वह भी इस पावन पर्व पर कुंभ के शंखनाद की साक्षी बनीं। जूना अखाड़ा में शामिल किन्नर अखाड़ा ने सन्यासियों ने संगम पट पर शाही स्नान किया कुंभ के प्रथम शाही स्नान पर्व मकर संक्राति पर मंगलवार सुबह नौ बजे तक लगभग 40 लाख श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी में पुण्य डुबकी लगाई।

मंगलवार को सवेरे 5 बजे से शुरू स्नान पूरे दिन जारी रहेगा। सुबह सबसे पहले 6.05 बजे महानिर्वाणी के साधु-संत पूरे लाव-लश्कर के साथ शाही स्नान को संगम तट पर पहुंचे। इसके साथ अखाड़ों के स्नान का क्रम प्रारंभ हुआ। सभी अखाड़ों को बारी-बारी से स्नान के लिए 30 मिनट से 45 मिनट तक का समय दिया गया है।

साधु-संतों के साथ आम श्रद्धालुओं भी संगम सहित अलग-अलग घाटों पर आधी रात से स्नान कर रहे हैं। कड़ी सुरक्षा के बीच घाटों पर नहाने और पूजा पाठ का सिलसिला जारी है। पारा 10 डिग्री सेल्सियस से भी कम होने के बाद भी बड़ी तादाद में लोग डुबकी लगा रहे हैं। किंवदंतियों के मुताबिक, पहला 'शाही स्नान' स्वर्ग का दरवाजा खोलता है।

मकर संक्रांति, पौष पूर्णिमा, मौनी अमावस्या, वसन्त पंचमी, माघी पूर्णिमा, महाशिवरात्रि। पौष महीने की 15वीं तिथि को पौष पूर्णिमा कहते हैं। जो 2019 में 21 जनवरी को होगी इसके बाद ही माघ महीने की शुरुआत होती है। कुंभ मेले में पांचवां स्नान 19 फरवरी को माघी पूर्णिमा के दिन होगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top