Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

1992 से पहले जैसी परिस्थितियां फिर से उत्पन्न होने लगी:राम माधव

 Ritu |  3 Nov 2018 7:37 AM GMT

1992 से पहले जैसी परिस्थितियां फिर से उत्पन्न होने लगी:राम माधव

नई दिल्ली। बीजेपी के महासचिव राम माधव ने आरएसएस के उस बयान का शनिवार को बचाव किया जिसमें कहा गया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए 1992 जैसा ही आंदोलन किया जाएगा। राम माधव ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि 1992 से पहले जैसी ही परिस्थितियां फिर से उत्पन्न होने लगी हैं।

उस समय भी राम मंदिर के मामले पर देर की जा रही थी। अब भी फिर से इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट उसी प्रकार की देरी कर रहा है, यह कोई राजनैतिक मुद्दा नहीं है।

बता दे कि राम माधव ने कहा कि 29 अक्टूबर से राम मंदिर निर्माण पर सुनवाई की बात सुप्रीम कोर्ट ने खुद ही बोली थी। फिर सुप्रीम कोर्ट ने ही अब कहा कि तीन महीने बाद इस मामले की सुनवाई होगी।

उन्होंने कहा कि देशभर के हिंदू समाज और राम मंदिर से जुड़े सभी लोगों में इस मुद्दे को लेकर चिंता व्याप्त है। आरएसएस ने भी उसी चिंता को व्यक्त किया है। संघ के सर कार्यवाहक भैय्याजी जोशी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो, राम मंदिर के लिए 1992 जैसा ही आंदोलन किया जाएगा।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top