Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

ऑस्ट्रेलिया में रचा इतिहास

 Ritu |  2019-01-07T11:10:59+05:30

ऑस्ट्रेलिया में रचा इतिहास

सिडनी। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में 2-1 टेस्ट सीरीज़ जीतकर इतिहास रच दिया। 71 साल में ये पहला मौका है टीम इंडिया सीरीज में पहले से ही 2-1 आगे थी और उसने क्रिकेट इतिहास में पहली बार ऑस्ट्रेलिया में किसी टेस्ट सीरीज में 2-1 की बढ़त ली थी। विराट अपनी इस उपलब्धि को और बड़ी करने की ओर थे, लेकिन मौसम ने ऑस्ट्रेलिया की इज्जत बचा ली। वहीं विराट सिडनी टेस्ट में जीत हासिल करने से महरूम रह गए। इससे टीम इंडिया की खुशियां कम नहीं हुईं क्योंकि क्रिकेट इतिहास में भारत ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया में कोई टेस्ट सीरीज जीती हैं। जब भारत ने कंगारुओं को उन्हीं की धरती पर टेस्ट सीरीज़ में मात दी हो, लेकिन इस ऐतिहासिक जीत के बाद भी भारतीय कप्तान विराट कोहली निराश हैं। इस बात का खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद कोहली ने ही किया है। टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में सिडनी टेस्ट मैच बारिश की वजह से नहीं जीत सकी और उसे इस सीरीज में 2-1 की ऐतिहासिक जीत मिली। अंपायरों ने लंच के बाद मैच ड्रॉ करने का फैसला किया जिससे भारत ने चार मैचों की श्रृंखला 2-1 से अपने नाम की। इस तरह से भारत बॉर्डर-गावस्कर ट्राफी बरकरार रखने में भी सफल रहा। सिडनी टेस्ट मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया गया। सिडनी टेस्ट में भारतीय टीम मजबूत स्थिति में थी और भारत 2-1 की जगह इस सीरी़ज का अंत 3-1 से कर सकता था। कोहली के निराश होने की भी यही वजह है। कोहली ने मैच के बाद कहा कि हम सीरीज़ जीतकर बहुत खुश है लेकिन हम ये सीरीज़ 2-1 की जगह 3-1 से जीतना चाहते थे। भारतीय कप्तान ने कहा कि बारिश और खराब रोशनी की वजह हम ऐसा नहीं कर सके और इसके लिए हम निराश है, लेकिन मौसम पर हमारा बस नहीं चलता। और मैच के बाद कोहली ने कहा कि ये पूरी टीम की जीत है। मैं खुशनसीब हूं कि मेरे पास ऐसी टीम है जो कहीं भी, किसी भी देश में जाकर अच्छा क्रिकेट खेल सकती है। कोहली ने कहा कि पुजारा ने उम्दा प्रदर्शन किया, मयंक अग्रवाल ने भी अपने रोल को समझते हुए शानदार प्रदर्शन किया। बुमराह के बारे में कोहली ने कहा कि मेरे लिए तो वो दुनिया के बेस्ट गेंदबाज़ है और उन्होंने ये साबित भी किया है। इसके साथ ही कोहली ने हनुमा विहारी की भी तारीफ की। कोहली ने कहा कि उन्हें जो जिम्मेदारी मिली उन्होंने उसे बखूबी निभाया, फिर चाहे वो ओपनिंग पर आना हो या नंबर छह पर बल्लेबाज़ी करना हो। इस सीरीज़ को जीतने के बाद हमें एक टीम के तौर पर अलग पहचान मिलेगी। ये जीत भारत में बैठे देख रहे युवाओं को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करेगी। कोहली ने कहा कि अब तक जो भी सीरीज़ में बतौर कप्तान जीता हूं ये उनमें टॉप पांच में है। मैं तीसरी बार इस देश में आया हूं और यहां पर टेस्ट सीरीज़ जीतना बेहद खास है। ये बहुत बड़ी जीत है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top