Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

पाकिस्तान के साथ विश्व कप में मैच खेलने की वकालत

 Ritu |  2019-02-22T18:34:04+05:30

पाकिस्तान के साथ विश्व कप में मैच खेलने की वकालत

नई दिल्ली। क्रिकेट विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम के पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलने की चौतरफा मांग के बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि पाकिस्तान के खिलाफ मैच नहीं खेलना आत्मसमर्पण से भी बदतर होगा और यह बिना लड़े ही हारने जैसा होगा। थरूर ने विश्व कप में पाकिस्तान के साथ खेलने की वकालत करते हुए कहा कि कारगिल युद्ध के समय भी भारत ने विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच खेला था। ऐसे में उसके साथ मैच नहीं खेलना आत्मसमर्पण से भी बुरा होगा।

थरूर ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, "1999 में कारगिल युद्ध के समय भी भारत ने विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच खेला था और जीत भी हासिल की थी। इस वर्ष मैच नहीं खेलने से भारत को सिर्फ दो अंकों का नुकसान नहीं होगा बल्कि यह आत्मसमर्पण करने से भी बदतर होगा क्योंकि यह बिना लड़े ही हार जाने जैसा होगा।"

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवानों के मारे जाने के बाद से विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलने की मांग हो रही है। यहां तक कि विश्व कप में पाकिस्तान के खेलने पर रोक लगाये जाने की भी मांग की जा रही है। देश में जहां भारतीय टीम के विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मुकाबला नहीं खेलने की मांग जोरों से उठ रही है पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने भी कल कहा था कि भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच खेलना चाहिए और उसे हराकर विश्व कप से बाहर कर देना चाहिए।

उन्होंने कहा था कि अगर भारत 16 जून को मैनचेस्टर में होने वाले विश्व कप मुकाबले में पाकिस्तान के साथ नहीं खेलता है तो भारत खुद विश्व कप की रेस से बाहर भी हो सकता है।गावस्कर ने कहा था कि अगर भारत पाकिस्तान के साथ विश्व कप में नहीं खेलता है तो पाकिस्तान को बिना खेले दो अंक मिल जाएंगे जिससे भारत की आगे की राह कठिन हो सकती है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top