Breaking »
  • Breaking News Will Appear Here

आईपीएल और भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने की तुलना नहीं करनी चाहिए: तेंदलुकर

 Ritu |  25 May 2019 9:07 AM GMT

ICC World Cup  2019 सचिन तेंदुलकर

नई दिल्ली। भारतीय टीम की विश्व कप 2019 में जीत की संभावनाओं के बारे में हर कोई एक्सपर्ट की राय जानना चाहता है। भारत के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से बेहतर इस बारे में सटीक राय भला और कौन दे सकता है। अभी टीम इंडिया को 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाले क्रिकेट के महाकुंभ के खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है।

हाल ही में सम्पन्न हुई इंडियन प्रीयिमर लीग (आईपीएल) में विराट की कप्तानी की बहुत आलोचना हुई, लेकिन महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भारतीय कप्तान के पक्ष में हैं। अब विश्व कप में टीम की जीत इस बात पर भी निर्भर करेगी कि विराट कोहली की कप्तानी प्रतियोगिता में कितनी प्रभावशाली साबित होती है। पिछले कुछ सालों में देखा भी गया है कि विराट आईपीएल में कितने भी असफल कप्तान हों, इंटरनेशनल लेवल पर वे एक सफल कप्तान हैं।

तेंदुलकर ने कहा, "मैं समझता हूं कि हमें आईपीएल और भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने की तुलना नहीं करनी चाहिए। दोनों अलग-अलग प्रारूप हैं, एक टी-20 है जिसमें आपकी टीम में कई विदेशी खिलाड़ी हैं और दूसरा ऐसा प्रारूप है जहां आपकी टीम में सभी भारतीय खिलाड़ी हैं, इसलिए हमें दोनों की तुलना नहीं करनी चाहिए। जाहिर तौर पर जब बात कप्तानी पर आती है तो विराट पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।"

इसी मामले में सचिन ने यह भी माना कि अनुभवी महेंद्र सिंह धोनी को रोल विकेट के पीछे अहम होगा और कोहली के लिए यह बहुत अच्छी बात है कि उनके पास इतना अनुभवी खिलाड़ी है। तेंदुलकर ने कहा, "धोनी का विकेट के पीछे खड़े होने का अनुभव टीम की बहुत मदद करेगा क्योंकि उस स्थान पर खड़े होकर वे सबकुछ अच्छे से देख सकते हैं। वहां खड़े होकर, वह पूरे मैदान को उसी तरह देख सकते हैं जिस तरह से एक बल्लेबाज देखता है।"

सचिन ने कहा, "धोनी की राय महत्वपूर्ण होंगी क्योंकि उन्हें पता होगा कि पिच कितनी अच्छी या बुरी है, क्या गेंद रुक आ रही है या यह बल्ले पर अच्छे से आ रही है। जो भी स्थिति हो, वह इसे कप्तान और गेंदबाज के साथ भी साझा करेंगे। इसलिए किसी अनुभवी खिलाड़ी का विकेट के पीछे होना हमेशा मददगार होता है।" टीम इंडिया के कई मैचों में देखा गया है कि विराट धोनी की सलाह को बहुत ज्यादा अहमियत देते हैं।

टूर्नामेंट से पहले यह भी कहा जा रहा है कि भारतीय टीम शीर्ष तीन खिलाड़ियों (शिखर धवन, रोहित शर्मा और कोहली) पर अधिक निर्भर है। तेंदुलकर ने भी कहा कि कुछ मुकाबले ऐसे हो सकते हैं जहां एक खिलाड़ी मैच जिताएगा। तेंदुलकर ने कहा, "मुझे ऐसा नहीं लगता कि टीम शीर्ष तीन पर निर्भर है। मुझे लगता है कि अगर हमें इस टूर्नामेंट में आगे बढ़ना है तो सभी खिलाड़ियों को एक-दूसरे को साथ निभाते हुए अच्छा प्रदर्शन करना होगा।"

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Top